उद्धव और सरकार दोनों का संकट उद्धव को पवार की सलाह- शिंदे को CM बना दो शिंदे गठबंधन तोड़ने पर अड़े, 4 और MLA गुवाहाटी पहुंचे

राजनीति राज्य

दो दिन से सरकार बचा रहे उद्धव अब अपनी पार्टी बचाने की जुगत में हैं और बागी एकनाथ शिंदे के आगे बैकफुट पर नजर आ रहे हैं। शिंदे को प्रपोजल दिया है कि वे सामने आकर बात करें और शिवसेना विधायक बोलें तो सीएम क्या, पार्टी प्रमुख का पद भी छोड़ने को तैयार हैं। इसके बाद पवार ने भी उद्धव को सलाह दी कि संकट टालने के लिए शिंदे को ही मुख्यमंत्री बना दो। हालांकि, संजय राउत ने कहा कि मुख्यमंत्री तो उद्धव ही रहेंगे।

लेकिन, शिंदे के तेवर आक्रामक ही हैं। वे गठबंधन से बाहर होने की शर्त पर ही अड़े हैं। जब उद्धव ने फेसबुक लाइव पर शिंदे को सामने आकर बात रखने का ऑफर दिया तो शिंदे ने ट्वीट कर जवाब दिया। लिखा- गठबंधन बेमेल है और इसमें शिवसेना कमजोर हो रही है। कांग्रेस-राकांपा मजबूत हो रहे हैं। इस गठबंधन से बाहर आना जरूरी है और महाराष्ट्र के हित में फैसला लेना होगा।

इससे पहले शिंदे चीफ व्हिप पर अपने नेता भरत गोगावले को अपॉइंट कर पार्टी पर दावा ठोक चुके हैं। विधायक दल के नेता के तौर पर 34 विधायकों के समर्थन की चिट्ठी राज्यपाल को भेजी है। यानी सरकार और पार्टी दोनों पर हक जता रहे हैं।

इधर, देर शाम करीब साढ़े 8 बजे 2 शिवसेना और 2 निर्दलीय विधायक गुवाहाटी पहुंचे। इनमें गुलाब राव पाटिल, योगेश कदम, मंजुला गाबित और चंद्रकांत पाटिल शामिल हैं। शिंदे दावा कर रहे हैं कि उनके पास 46 विधायक हैं। 4 नए विधायक पहुंचने के बाद कुल विधायकों की संख्या अभी 39 पहुंच गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *