उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अरुणाचल प्रदेश दौरे पर चीन ने जताई आपत्ति तो भारत ने दिया ये जवाब

देश विदेश

हाल ही उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (M Venkaiah Naidu) अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के दौरे पर गए थे जिस पर चीन (China) ने आपत्ति जताई थी. इस पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम ऐसी टिप्पणियों को खारिज करते हैं. अरुणाचल प्रदेश भारत का एक अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है. भारत के राजनेता नियमित रूप से राज्य की यात्रा करते हैं जैसे वे भारत के किसी दूसरे राज्यों में करते हैं. विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय नेताओं की भारतीय राज्य की यात्रा पर आपत्ति करने की वजह समझ से परे है.

चीन ने क्या कहा था?

ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा था, “चीन भारत द्वारा अवैध रूप से स्थापित तथाकथित अरुणाचल प्रदेश को मान्यता नहीं देता है और भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की हालिया यात्रा का दृढ़ता से विरोध करता है.” इस क्षेत्र को चीन में जांगनान कहा जाता है.

बता दें कि इसी सप्ताह उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू दो दिवसीय दौर पर अरुणाचल प्रदेश गए थे. उन्होंने अरुणाचल प्रदेश विधानसभा के एक विशेष सत्र को संबोधित किया था. इसके अवाला राज्य के दौर पर उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के लेखकों, शिक्षकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और अन्य प्रमुख हस्तियों के साथ बातचीत की थी और ने उनसे आगे आकर युवाओं को लैंगिक भेदभाव और मादक पदार्थों की लत जैसी विभिन्न सामाजिक बुराइयों के बारे में शिक्षित करने का भी अनुरोध किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *