ओंकारेश्वर में ऑनलाइन बुकिंग कर श्रद्वालु कर सकेंगें दर्शन, सिंगाजी में भी स्नान पर पाबंदी

मध्य-प्रदेश

खंडवा। मकर संक्रांति पर्व पर धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की तादाद को देखते हुए प्रशासन ने स्नान व दर्शन पर पाबंदिया लगा दी है। अब 14-15 जनवरी को ऑनलाइन बुकिंग वाले श्रद्धालु ही ओंकार महाराज के दर्शन कर सकेंगे। ओंकार नगरी के अलावा संत सिंगाजी समाधिस्थल के नर्मदा घाटों पर स्नान प्रतिबंध लगाया गया है।

ओंकारेश्वर : स्थानीय लाेग स्नान और दर्शन कर सकेंगे

तीर्थनगरी ओंकारेश्वर में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। ऐसे में 14 और 15 जनवरी को ऑनलाइन दर्शन की बुकिंग वाले श्रद्धालु ही ओंकार जी के दर्शन कर सकेंगे। एसडीएम चंदरसिंह सोलंकी ने बताया स्थानीय लाेग सामान्य दिनाें की तरह स्नान और दर्शन कर सकेंगे। पर्वकाल के दौरान अधिक संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं के आने की संभावना काे देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। जिन लाेगाें ने ऑनलाइन बुकिंग दर्शन के लिए नहीं कराई है, उन्हें नाके से लाैटा दिया जाएगा।

सिंगाजी समाधि स्थल : घाटों पर स्नान नहीं, मेले पर रोक

सिंगाजी समाधि स्थल के सभी घाटों पर स्नान पर रोक लगाई है। हालांकि श्रद्धालु पूजा-अर्चना कर सकेंगे। मेले पर पूर्णत: प्रतिबंध लगाया गया है। सार्वजनिक कार्यक्रम व मेले पर भी रोक लगा दी गई है। सिंगाजी मंदिर महत्वपूर्ण तीर्थ स्थान है। मकर संक्रांति पर्व पर खंडवा जिले समेत बड़वानी, खरगोन, देवास, इंदौर, हरदा, बुरहानपुर, होशंगाबाद, बैतूल, उज्जैन, शाजापुर, आगर-मालवा, धार, अलीराजपुर, झाबुआ, सीहोर, रायसेन आदि जिलों से भी श्रद्धालु श्री सिंगाजी समाधि मंदिर दर्शन व पूजा-अर्चना करने आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *