छत्तीसगढ़ के नवाचारी कार्यक्रम “पढ़ई तुंहर दुआर” की सराहना

रायपुर

रायपुर :  छत्तीसगढ़ में समग्र शिक्षा की परियोजना स्वीकृति बोर्ड की बैठक आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई। भारत सरकार के अधिकारियों ने छत्तीसगढ़ में संचालित नवाचारी कार्यक्रम ’पढ़ई तुंहर दुआर’ की सराहना की। केन्द्र सरकार के अधिकारियों ने इस कार्यक्रम को छत्तीसगढ़ के आकांक्षी जिलों में क्रियान्वित करने पर बल दिया। लॉकडाउन अवधि में मितव्ययता के साथ चलते हुए प्रत्येक स्तर पर प्राथमिक कार्यों पर ही ध्यान देने के निर्देश दिए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य में समग्र शिक्षा के लिए सत्र 2020-21 की वार्षिक कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की गई। 

    वीडियो कांफ्रेंसिंग में राज्य में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला के द्वारा छत्तीसगढ़ में चल रहे नवाचारी कार्यक्रम ’पढ़ई तुंहर दुआर’ की गतिविधियों के विषय में प्रभावी ढंग से प्रस्तुती दी। समग्र शिक्षा के मिशन संचालक श्री जितेन्द्र शुक्ला ने पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से कार्यक्रम के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। श्री जितेन्द्र शुक्ला ने प्रस्तुतीकरण में बताया कि छत्तीसगढ़ के परिप्रेक्ष्य में जहां बहुत से नेटवर्कविहीन क्षेत्र और स्मार्टफोन रहित आबादी है, वहीं पर विभिन्न वैकल्पिक तरीकों जैसे – मोटरसाईकल गुरूजी, ब्लूटूथ फोन, ऑडियो सामग्री, टेलीविजन के माध्यम से बच्चों के लिए शिक्षा व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए विभिन्न नवाचारी सुझाव दिए। लगभग 3 घंटे चली इस ऑनलाइन बैठक में केन्द्र के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही राज्य शासन के स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों भी उपस्थित रहे। बैठक में लॉकडाउन के चलते बच्चों के अध्ययन-अध्यापन की निरंतरता के लिए चर्चा की गई। राज्य की वर्तमान परिस्थितियों खासतौर पर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों सहित अन्य विषयों पर विस्तार से समीक्षा की गई।  

    समग्र शिक्षा के परियोजना स्वीकृति बोर्ड की विडियो कांफ्रेंसिंग बैठक में भारत सरकार के स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की सचिव श्रीमती अनीता कारवाल, छत्तीसगढ़ में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री आशीष भट्ट, संचालक समग्र शिक्षा श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एस.सी.ई.आर.टी.) के अपर संचालक श्री आर.एन. सिंह, संयुक्त संचालक डॉ. योगेश शिवहरे, समग्र शिक्षा के उप संचालक श्री डी.के. कौशिक, सहायक संचालक डॉ. एम. सुधीश सहित सभी अधिकारी उपस्थित रहे।
 

छत्तीसगढ़ में समग्र शिक्षा की परियोजना स्वीकृति बोर्ड की बैठक आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई। भारत सरकार के अधिकारियों ने छत्तीसगढ़ में संचालित नवाचारी कार्यक्रम ’पढ़ई तुंहर दुआर’ की सराहना की। केन्द्र सरकार के अधिकारियों ने इस कार्यक्रम को छत्तीसगढ़ के आकांक्षी जिलों में क्रियान्वित करने पर बल दिया। लॉकडाउन अवधि में मितव्ययता के साथ चलते हुए प्रत्येक स्तर पर प्राथमिक कार्यों पर ही ध्यान देने के निर्देश दिए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य में समग्र शिक्षा के लिए सत्र 2020-21 की वार्षिक कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की गई। 

    वीडियो कांफ्रेंसिंग में राज्य में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला के द्वारा छत्तीसगढ़ में चल रहे नवाचारी कार्यक्रम ’पढ़ई तुंहर दुआर’ की गतिविधियों के विषय में प्रभावी ढंग से प्रस्तुती दी। समग्र शिक्षा के मिशन संचालक श्री जितेन्द्र शुक्ला ने पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से कार्यक्रम के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। श्री जितेन्द्र शुक्ला ने प्रस्तुतीकरण में बताया कि छत्तीसगढ़ के परिप्रेक्ष्य में जहां बहुत से नेटवर्कविहीन क्षेत्र और स्मार्टफोन रहित आबादी है, वहीं पर विभिन्न वैकल्पिक तरीकों जैसे – मोटरसाईकल गुरूजी, ब्लूटूथ फोन, ऑडियो सामग्री, टेलीविजन के माध्यम से बच्चों के लिए शिक्षा व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए विभिन्न नवाचारी सुझाव दिए। लगभग 3 घंटे चली इस ऑनलाइन बैठक में केन्द्र के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही राज्य शासन के स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों भी उपस्थित रहे। बैठक में लॉकडाउन के चलते बच्चों के अध्ययन-अध्यापन की निरंतरता के लिए चर्चा की गई। राज्य की वर्तमान परिस्थितियों खासतौर पर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों सहित अन्य विषयों पर विस्तार से समीक्षा की गई।  

    समग्र शिक्षा के परियोजना स्वीकृति बोर्ड की विडियो कांफ्रेंसिंग बैठक में भारत सरकार के स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की सचिव श्रीमती अनीता कारवाल, छत्तीसगढ़ में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री आशीष भट्ट, संचालक समग्र शिक्षा श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एस.सी.ई.आर.टी.) के अपर संचालक श्री आर.एन. सिंह, संयुक्त संचालक डॉ. योगेश शिवहरे, समग्र शिक्षा के उप संचालक श्री डी.के. कौशिक, सहायक संचालक डॉ. एम. सुधीश सहित सभी अधिकारी उपस्थित रहे।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *