प्रदेश के 15 से ज्यादा जिलों में बारिश का अलर्ट, नर्मदापुरम में पानी भरने के चलते NH 69 बंद

मध्य-प्रदेश

मध्य प्रदेश के 15 से ज्यादा जिलों में मौसम विभाग ने बारिश का अलर्ट जारी किया है। प्रदेश के कई जिलों में बीते 24 घंटे में भारी बारिश दर्ज की गई। बारिश के चलते प्रदेश के नदी-नाले उफान पर हैं। कई जगहों पर पानी भरने के चलते लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। भारी बारिश के चलते राजधानी भोपाल और इंदौर के भी कई इलाकों में पानी भर गया है। जिससे जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

बीते 24 घंटों में प्रदेश के जबलपुर, भोपाल, नर्मदापुरम संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर, शहडोल उज्जैन, रीवा, इंदौर, ग्वालियर तथा सागर एवं चंबल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर वर्षा दर्ज की गई । टिमरनी में 13, बैरागढ़, सौसर, कोलार में 12, घोड़ाडोगरी, रहली, शाहपुर में 11,  श्यामपुर, मोमन बडोदिया में 9 सेमी बारिश दर्ज की गई है। नर्मदापुरम में भारी बारिश के चलते नेशनल हाइवे 69 सुबह से बंद है। नर्मदापुरम-बैतूल मार्ग पर बने भौरा नदी पुल के ऊपर से बारिश का पानी बह रहा है, जिसके चलते पुल के दोनों ओर लगा लम्बा जाम लगा है।

मौसम विभाग ने मंगलवार को धार, इंदौर, खंडवा, खरगौन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाजापुर, देवास, आगर, मंदसौर जिलों में भारी वर्षा की संभावना जताई है। जबकि इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम, सागर संभागों के जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई हैं, वहीं, भोपाल, जबलपुर, रीवा शहडोल, चंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में भी बारिश, आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग ने लोगों से बारिश के दौरान पर्यटन स्थलों पर न जाने की अपील की है। साथ ही बारिश से बचने के लिए पेड़ों के नीचे न खड़ें होने की सलाह दी है। बारिश के चलते प्रदेश के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को राजधानी भोपाल का अधिकतम तापमान 27.7 और न्यूनतम 23.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जुन्नारदेव के टेमरू में नदी में आई बाढ़,
बीते दो दिनों से जारी बारिश के चलते जुन्नारदेव विकासखंड में नदियां उफान पर हैं। जिसके चलते तीसरे चरण के चुनाव के लिए मतदान दलों को पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विकासखंड के दूरस्थ अंचल में बसी ग्राम पंचायत टेमरू में गांव जाने वाले मुख्य रास्तों के बीच में पड़ने वाली नदी उफान पर है, जिसके चलते मतदान दल को मतदान केंद्र तक पहुंचने में बाधा उत्पन्न हो सकती है। एक दिन पहले जुन्नारदेव एसडीएम मतदान केंद्र का निरीक्षण करने के लिए टेमरू पहुंचे थे, लेकिन नदी उफान पर होने के चलते वे मतदान केंद्र तक नहीं पहुंच पाए। ऐसे में अब दो दिन बाद होने वाले मतदान को लेकर यहां तक मतदान टीम को पहुंचाना प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *