भोपाल में एक ऐसा मंदिर जहां देवी को अर्पित किये जाते हैं जूते चप्पल, आस्था से जुड़ी हुई एक अनूठी परंपरा

देश भोपाल मध्य-प्रदेश

भोपाल. किसी भी धार्मिक स्थान में जूते चप्पल बाहर उतारकर ही अंदर जाते हैं. लेकिन भोपाल में देवी का एक ऐसा मंदिर (Devi Temple) है जहां मां को जूते-चप्पल अर्पित किये जाते हैं. मन्नत पूरी होने पर लोग यहां खुशी खुशी डिजायनर फुट वेयर चढ़ाते हैं. माता के भक्तों में विदेश में बसे लोग भी शामिल हैं.

जीजी बाई का ये मंदिर भोपाल के कोलार क्षेत्र में पहाड़ी पर है. मां यहां बाल रूप में स्थापित हैं. यह मंदिर जीजी बाई, सिद्धिदात्रि के नाम से जाना जाता है. जीजी बाई के मंदिर में दर्शन के लिए रोज ही लोग यहां पहुंचते हैं. लेकिन नवरात्रि पर भीड़ ज्यादा रहती है. मां के दरबार में लोगों की आस्था से जुड़ी हुई एक अनूठी परंपरा है.

18 साल पहले किया था कन्यादान 
पहाड़ पर स्थापित होने के कारण इस मंदिर को पहाड़ा वाला मंदिर भी कहते हैं. ऐसी मान्यता है कि 18 साल पहले महाराज ने पहाड़ पर एक मूर्ति की स्थापना की थी. शिव पार्वती का विवाह कराया था और खुद महाराज ने कन्यादान किया था. तब से महाराज मां सिद्धिदात्री जीजी बाई को अपनी बेटी मानकर पूजा करते हैं. बेटी की सेवा में कोई कमी नहीं रह जाए इसलिए बच्चों और बेटियों के उपयोग का सभी सामान मां को अर्पित किया जाता है. बेटियों की तरह उनके सारे नखरे और शौक भी पूरे करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *