राजनीतिक फायदे के लिए लॉकडाउन को फेल बता रहे राहुल गांधीः रविशंकर प्रसाद

राजनीति

राहुल के सवालों पर भाजपा का पलटवार
नई दिल्ली। देश में कोरोना और राजनीति दोनों ही चरम पर है। पक्ष‑विपक्ष में वार‑पलटवार का दौर चल रहा है। कोरोना वायरस से लेकर इकॉनमी के मोर्चे पर मोदी सरकार की तीखी आलोचनाएं कर रहें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर अब भाजपा ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कोरोना, लॉकडाउन, प्रवासी मजदूर, इकॉनमी से जुड़े राहुल के हमलों पर पलटवार किया। उन्होंने कांग्रेस नेता पर कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई को कमजोर करने और राजनीतिक फायदे के लिए देश को गुमराह करने का आरोप लगाया। प्रसाद ने कहा कि पंजाब और राजस्थान जैसे कांग्रेस शासित राज्यों ने सबसे पहले लॉकडाउन लागू किया।
रविशंकर प्रसाद ने कोरोना के खिलाफ जंग में भारत की सफलता को बताते हुए कहा कि देश में इस खतरनाक वायरस से अब तक सिर्फ 4345 लोगों की मौत हुई। दूसरी तरफ दुनिया में 3 लाख से ज्यादा मौंतें हुईं है। उन्होंने कहा कि दुनिया के 15 ऐसे देश जहां कोरोना बड़ी बीमारी बन गया है उसकी आबादी है 142 करोड़। उसमें अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, कनाडा व अन्य देश हैं। इन देशों में 26 मई तक करीब 3.43 लाख लोगों की मृत्यु कोरोना से हुई है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत की आबादी है 137 करोड़ और हमारे देश में 4,345 लोगों की मृत्यु हुई है। 64 हजार से ज्यादा रिकवरी हुई है।
प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी 5 तरीकों से कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई के संकल्प को कमजोर कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने देश का संकल्प कैसे कमजोर करने की कोशिश की इसके पांच खंड बताता हूं- 1- नकारात्मकता फैलाना, 2- संकट के समय राष्ट्र के खिलाफ काम करना,  3- झूठा श्रेय लेना,  4- कहते कुछ और हैं करते कुछ और हैं,  5- गलत तथ्यों और झूठी खबरें फैलाना।
महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में कांग्रेस की प्रमुख भूमिका नहीं होने संबंधी राहुल गांधी के कल के बयान को लेकर भी प्रसाद ने उन पर हमला बोला। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी जिम्मेदारियों से भागने की कोशिश कर रहे हैं। प्रसाद ने लॉकडाउन को लेकर राहुल गांधी पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया। बीजेपी नेता ने कहा कि लॉकडाउन से देश को फायदा हुआ है। अगर भारत में बाकी बड़े देशों के मुकाबले कम मौतें हुई हैं और रिकवरी ज्यादा हो रही है तो इसका श्रेय लॉकडाउन को ही जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *