CM Kamal Nath ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड, अब तक 25 लाख किसानों का कर्जा हुआ माफ

भोपाल मध्य-प्रदेश

भोपाल। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्य प्रदेश की जनता को 70 दिनों का रिपोर्ट कार्ड सौंपा। इसमें किसानों को दिया गया कर्ज माफी का वचन सबसे अहम है। सरकार ने अपने रिपोर्ट कार्ड में इसे सबसे ऊपर रखा है।

सीएम कमलनाथ ने बताया कि, “हमें 25 दिसंबर को भाजपा ने ऐसा राज्य सौंपा था। जो किसानों की आत्महत्या में नंबर वन था। जो महिला अपराध के मामले में नंबर वन था। ऐसे राज्य को हमने पटरी पर लाने का काम किया है। उन्होंने बताया कि 25 लाख किसानों का 10 हजार करोड़ का कर्जा अब तक माफ हो चुका है। हमने ये काम तब किया, जब प्रदेश का खजाना खाली था।” व्यवस्था में परिवर्तन के लिए हमने काउंसिल ऑफ गुड गर्वेंनस बनाई है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ के मुताबिक जय किसान ऋण माफी योजना के तहत 55 लाख किसानों का दो लाख रुपए का कर्जा माफ किया गया है। कर्ज माफी की रकम का आंकड़ा 50 हजार करोड़ के पार है। अपनी सरकार के 70 दिन का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए सीएम कमलनाथ ने भाजपा की पूर्ववर्ती सरकार से 15 साल तो केंद्र सरकार से पांच साल का हिसाब देने की मांग की।

वहीं देश के सुरक्षा के मुद्दे पर भी मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्र सरकार को कोसा। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में देश में कई बड़ी आतंकी घटनाएं हुईं है। संसद से लेकर पुलवामा में किसकी सरकार के वक्त हमला हुआ। ये सबको पता है। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर गुमराह करने का आरोप लगाया।

वहीं इंदिरा किसान ज्योति योजना शुरू की गई है। इसके तहत दस हॉर्स पावर तक के पंपों के लिए आधी दरों पर बिजली की सुविधा दी गई है। अब किसानों को हर साल प्रति हॉर्स पावर 1400 रुपए के बजाए 700 रुपए ही देने होंगे।

प्रदेश में निवेश की संभावनाओं को लेकर उद्योगपतियों के साथ हुई राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जानकारी दी कि, प्रदेश में अब सेक्टर आधारित निवेश नीति होगी। इंदौर में हम कन्फेक्शनरी पार्क बनाएंगे। इसके लिए जमीन चिन्हित कर ली गई है। मुख्यमंत्री ने साफ किया कि उनकी सरकार की मंशा है कि वो प्रदेश को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का हब बनाए। वहीं गारमेंट सैक्टर पर भी सरकार का फोकस है।

वहीं केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद सूबे की सरकार गिर जाने के सवाल पर सीएम कमलनाथ ने चुटकी ली। उन्होंने कहा कि 15 मई के बाद सब साफ हो जाएगा। मैं दोबारा आपसे मिलूंगा और उस वक्त नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *