MP में कॉलेज जाने वाली सभी बेटियों को 25 हजार, डॉक्टरी और इंजीनियरिंग की फीस सरकार भरेगी

देश भोपाल मध्य-प्रदेश

मध्यप्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाडली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम में बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के कॉलेज में पढ़ने वाली सभी बेटियों को 25 हजार रुपए की स्कॉलरशिप मिलेगी। डॉक्टरी और इंजीनियरिंग सहित मैनेजमेंट की पढ़ाई का खर्च भी सरकार उठाएगी। गुरुवार को दुर्गा नवमी के दिन लाडली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम भोपाल के मिंटो हॉल में हुआ। कार्यक्रम की शुरुआत कन्याओं की पूजा कर की। प्रदेश की 21 हजार से ज्यादा बालिकाओं के खाते में 6 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए। इस अवसर पर लाडली लक्ष्मी पोर्टल शुरू के निर्देश दिए। इसमें लाडली की पूरी जानकारी होगी। हरियाणा की आनंदमूर्ति गुरु मां विशेष रूप से कार्यक्रम में शामिल हुईं।

MBBS, BE, IIM और IIT जैसे कोर्स करने वाली लड़कियां की पूरी फीस अब सरकारी भरेगी। प्रदेश की लगभग 40 लाख लाडली लक्ष्मी, बेटियां और परिजन वर्चुअली माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़े। शिवराज ने कहा कि लड़कियों को आगे बढ़ाने के लिए लाडली लक्ष्मी योजना सिर्फ एक योजना नहीं है। यह मेरे भाव हैं। बेटियों को सशक्त बनाने के लिए भरपूर प्रयास किए जाना जरूरी हैं। बेटियों को केवल पूजना ही नहीं बल्कि उन्हें बचाना और सबकी लाडली बनाना हमारी जिम्मेदारी है। बेटियों की शिक्षा और उनकी समृद्धि के लिए कोई भी कमी नहीं रहने दी जाए।

यह भी किया जाएगा
करियर काउंसिलिंग, ट्रेनिंग, कोचिंग, जन्म के समय प्रमाण पत्र, पोषण और टीकाकरण का प्रबंधन किया जाएगा। बेटियों की अधिक संख्या वाले ग्राम पंचायतों को बेटी फ्रेंडली गांव घोषित किया जाएगा। प्राइवेट जॉब, प्रोफेशनल के अलावा उद्योग स्थापित करने वाली छात्राओं के लिए ट्रेनिंग से लेकर लोन तक की जिम्मेदारी सरकारी उठाएगी।

इस उत्सव में प्रत्येक आंगनबाड़ी एवं पंचायत भवनों में वर्चुअल माध्यम से बालिकाओं को जोड़ा गया। कार्यक्रम का प्रत्येक गांव, आंगनबाड़ी केंन्द्र, समस्त परियोजनाओं, जनपदों, नगर पालिका, जिला मुख्यालय पर टीवी, कम्प्यूटर, लेपटाप, मोबाइल एवं दूरदर्शन से उत्सव का प्रसारण किया गया।

योजना को सफल बनाने सुझाव भी मांगे

मुख्यमंत्री ने लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 को और अधिक बेहतर बनाए जाने के के लिए जनता से सुझाव मांगे हैं। साल में एक दिन तय कर लाडली लक्ष्मी उत्सव का आयोजन करने का निर्णय भी लिया गया है। शिवराज ने कहा कि लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 को बेहतर बनाने के लिए सभी लड़कियों के कक्षा 12वीं उत्तीर्ण करने के बाद स्नातक और व्यवसायिक पाठ्यक्रम में कम से कम दो वर्ष की पढ़ाई पूरी करने का खर्च सरकार उठाएंगी।

एक नजर में

  • अब तक योजना के अंतर्गत लगभग 9 हजार करोड़ का व्यय किया जा चुका है।
  • 40 लाख से अधिक बालिकाओं का पंजीयन हो चुका है।
  • 6 लाख 62 हजार बालिकाओं को 185 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति का वितरण किया जा चुका है।
  • वर्ष 2021-22 के बीते 6 माह में 1 लाख 31 हजार नई बालिकाओं का पंजीयन किया गया।
  • आज के कार्यक्रम में 21 हजार 650 लाडली लक्ष्मी के खातों में कुल 5 करोड़ 99 लाख रुपए की छात्रवृत्ति का ट्रांजैक्शन किया गया।

बेटियों के लिए MP में यह भी किया जा रहा

  • सरकारी कार्यक्रम की शुरुआत कन्या पूजन से की जाती है।
  • बेटियों के साथ दुष्कर्म करने वाले को फांसी की सजा देने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य।
  • बेटियों के अपहरण और उनके गायब होने की घटनाओं के लिए चलाया गया मुस्कान अभियान।
  • अभियान में 10 हजार से अधिक बेटियों को दुष्टों के चंगुल से छुड़ाया गया।
  • बहन-बेटियों को बुरी नजर से देखने वालों को सबक सिखाने के लिए और समाज में जागरूकता लाने के लिए सम्मान अभियान चलाया गया।
  • किशोरियों की सुरक्षा, पोषण, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता की जागरूकता के लिए पंख अभियान प्रारंभ किया गया।
  • 311 विकासखंडों के विद्यालयों में बालिकाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण देने के लिए अपराजिता प्रशिक्षण शिविर का आयोजन।
  • 23 हजार बालिकाओं को जूडो, कराटे, ताइक्वाडों का प्रशिक्षण दिया जा रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *